साभार: गूगल

एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन औवैसी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या मंदिर के शिलान्यास में जाने को संविधान की शपथ का उल्लंघन बताया है। उन्होंने कहा कि पंथनिरपेक्षता भारत के संविधान का अभिन्न अंग है और पीएम मोदी का वहां जाना उसका अनादर होगा।
बता दें, कि प्रधानमंत्री 5 अगस्त को अयोध्या के राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। इसके बाद ही निर्माण का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम में करीब 200 गणमान्य लोगों के भाग लेने की उम्मीद है, जिसकी सूची पीएमओ को सौंपी जा चुकी है।

जमीन के नीचे टाइम कैप्सूल की खबर झूठी:

जमीन के नीचे टाइम कैप्सूल की खबर को झूठी बताते हुए राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि ‘5 अगस्त को राम मंदिर निर्माण स्थल पर जमीन के नीचे एक टाइम कैप्सूल रखने की सभी खबरें झूठी हैं। ऐसी किसी भी अफवाह पर विश्वास न करें’।

Leave a Reply