स्रोत - ANI

कोरोना वायरस के कहर से पूरा देश परेशान है। वहीं, देश का दिल कही जाने वाली राजधानी दिल्ली में हालात बेकाबू होते दिख रहे हैं। यहां पिछले कुछ दिनों में संक्रमण की दर तेजी से बढ़ी है। दिल्ली में जांच कराने वाला हर तीसरा शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित मिल रहा है। अब तो दिल्ली में कोरोना वायरस से निपटने के इंतजाम पर भी सवाल उठने लगे हैं।
दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहां की कोरोना वायरस के मामले पूरे देश में भी हैं और दिल्ली में भी है परंतु दूसरी जगह पर मामले कम है लेकिन थोड़े दिनों में उनका भी नंबर आएगा। दिल्ली कोरोना वायरस के मामले में मुंबई से 10 – 12 दिन पीछे चल रहा है।
उन्होंने यह भी कहा कि अगर आपको टेस्टिंग बढ़वानी है तो ICMR से कहिए कि अपनी गाइडलाइन बदल दे। क्योंकि ICMR की हम अवहेलना नहीं कर सकते है, जो उन्होंने शर्ते लगा रखी है उन्हीं के हिसाब से पूरे देश को चलना होगा। केंद्र सरकार से कहिए की कहिए की उसको खोल दे ताकि जो चाहे वो जाकर टेस्ट करवा सके।

दिल्ली में कोरोना वायरस की बढ़ी रफ्तार

देश की राजधानी में कोरोना वायरस ने भयानक रफ्तार पकड़ ली है। शुक्रवार को यहां नए केसेज की संख्‍या पुराने सारे रेकॉर्ड्स तोड़ दिए। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को दिल्‍ली में 2,137 लोग पॉजिटिव टेस्‍ट हुए। इसी के साथ, दिल्‍ली में कोविड-19 के मरीजों की संख्‍या 36,824 हो चुकी है। पिछले 15 दिन के आंकड़े देखें तो दिल्‍ली और चेन्‍नई में मुंबई से दोगुनी रफ्तार से कोरोना के मामले सामने आए हैं। वहीं, दिल्‍ली में अहमदाबाद से तीन गुना तेजी से मरीज बढ़े हैं।

Leave a Reply