स्रोत - ANI

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवालने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, ”पूरे देश में हर सरकार केंद्र सरकार के साथ मिलकर अपने राज्य के गरीब लोगों को राशन बांटती है। जबसे देश में राशन बांटना शुरू हुआ तब से गरीब लोगों को राशन लेने में बहुत दिक्कत आ रही है। कभी दुकान बंद मिलती है तो कभी मिलावट मिलती है तो कभी पैसा ज्यादा ले लेते हैं वगैरा-वगैर। पिछले 5 साल में हमने राशन की व्यवस्था में बहुत सुधार किए हैं।”

क्रांतिकारी निर्णय से कम नहीं है

केजरीवाल ने कहा कि, ”आज हमारी कैबिनेट ने सुबह 11 बजे जो निर्णय लिए हैं वह किसी क्रांतिकारी निर्णय से कम नहीं है। आज हमने दिल्ली में डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ राशन की योजना को मंजूरी दी है। इस योजना का नाम होगा ‘मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना’। इस योजना के तहत अब लोगों को राशन की दुकान पर नहीं आना पड़ेगा बल्कि राशन लोगों के घर इज्जत से पहुंचाया जाएगा। एफसीआई के गोदाम से गेहूं उठाया जाएगा और आटा पिसवाया जाएगा। चावल और चीनी आदि की भी पैकिंग की जाएगी और लोगों को घर-घर तक पहुंचाया जाएगा।”

कैसे पहुंचेगा घर-घर तक सामान

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस योजना के बारे में बताते हुए कहा कि, एफसीआई के गोदाम से गेहूं लेकर उसकी पिसाई व पैकेजिंग करवाई जाएगी। चावल और चीनी आदि सामानों की भी पैकिंग होगी।इसके बाद इसे लोगों के घर-घर तक पहुंचाया जाएगा।

Leave a Reply