मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में कोरोना महामारी की स्थिति और तैयारियों पर बात की। दिल्ली सरकार द्वारालोगों की सहूलियत के लिए ‘दिल्ली कोरोना’ नाम का एक एप लॉन्च किया जा रहा है। ये दिल्ली में किस अस्पताल में कितने बेड खाली हैं बतायेगा। इससे मरीजों को भटकना नहीं पड़ेगा और आसानी से समय रहते उनका इलाज शुरू हो सकेगा।


अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कोरोना वायरस में सबसे ज्यादा परेशानी की बात ये होती है कि बेड नहीं होते हैं, वेंटिलेटर नहीं होते। ऐसे में हालात और खराब हो जाते हैं। कोरोना फैलने वाली बीमारी है। लेकिन दिल्ली ने सारे इंतेजाम कर रखे हैं। दिल्ली इस मामले में कोरोना से आगे है। दिल्ली में बेड की कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि इस वक्त दिल्ली में लगभग 4100 बेड खाली हैं, लेकिन लोगों को पता नहीं चल पाता है कि वे कहां जाए जहां उन्हें बेड, वेंटिलेटर आदि मिल सकेंगे। इसके लिए हम आज एक एप ‘दिल्ली कोरोना’ लॉन्च कर रहे हैं जिसमें सभी अस्पतालों की जानकारी होगी कि किस अस्पताल में कितने बेड, वेंटिलेटर आदि हैं। इसमें सभी सरकारी और निजी अस्पतालों का डाटा रहेगा।

उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोग इस एप को गूगल प्ले स्टोर पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। अगर किसी के पास स्मार्ट फोन की सुविधा नहीं है तो इसके वेब पेज पर भी जा सकते हैं। इसके अलावा 1031 पर फोन कर एसएमएस पर पूरी जानकारी पा सकेंगे। बेड्स और वेंटिलेटर बताने वाले इस एप को हर रोज़ दो बार अपडेट किया जाएगा। एक बार सुबह 10 बजे और शाम को 6 बजे। इसे व्हॉट्सएप नंबर 800007722 से भी डाउनलोड कर सकते हैं।

Leave a Reply