स्रोत : गूगल

यूपी में बढ़ते अपराधों को लेकर योगी सरकार विपक्ष के नेताओं के निशाने पर है | तो वही अयोध्या में राममंदिर शिलान्यास कार्यक्रम तय होते ही एक नई बहस को कांग्रेस की चर्चित नेता अलका लांबा ने जन्म दे दिया है | शिलान्यास कार्यक्रम में अलका लांबा ने पीएम मोदी को अपनी पत्नी के साथ पूजा में बैठने की सलाह दी है | अलका लांबा का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और देश में चर्चा का विषय बना हुआ है |

अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि “जो भी आपत्ति जता रहे हैं, मैं जानती हूं वह यह जानते हैं कि #श्री राम भगवान को भी खुशी होगी अगर पीएम पूजा में अकेले नहीं बल्कि अपनी धर्म पत्नी, अपनी अर्धांगिनी को भी साथ लेकर बैठे।
उस #सीता मैया को भी सम्मान मिलेगा जो अपने भगवान से इतने दिनों से इतनी दूर है।
हम सब को भी खुशी होगी।”

22 जुलाई को अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कहीं बलात्कार के बाद हत्या, कहीं छेड़छाड़ से बचाने पर हत्या, कहीं उजड़ते घर, गिरते पुल,धसती सडकें, डूबते परिवार,जान से हद होते लोग, कहीं महामारी का शिकार होते लोग, भारत की सीमाओं पर दुश्मन से ख़तरा, इन सब के बीच करोड़ो के विज्ञापनों में चेहरे चमकाते, छवि बनाते हमारे नेता

Leave a Reply