स्रोत: ANI

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब-हरियाणा के किसानों के प्रदर्शन का आज दूसरा दिन है। अब हरियाणा के किसान आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं। पीछे-पीछे पंजाब के किसानों का जत्था चलता जा रहा है।

प्रदर्शनकारी किसानों को राजधानी दिल्ली आने की इजाजत दे दी गई है। दिल्ली पुलिस आयुक्त ने कहा, प्रदर्शनकारियों को बुराड़ी क्षेत्र में निरंकारी समागम मैदान में विरोध करने की अनुमति है। दिल्ली पुलिस के जवान उनके साथ रहेंगे।

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार से 9 स्टेडियम को जेल बनाने की इजाजत मांगी थी। दिल्ली सरकार ने सर जी को नामंजूर किया है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि किसानों की मांगे जायज है। केंद्र सरकार को किसानों की मांगी तुरंत मान लेनी चाहिए। किसानों को जेल में डालना इसका समाधान नहीं है। इनका आंदोलन बिल्कुल अहिंसक है। अहिंसक तरीके से आंदोलन करना हर भारतीय का संवैधानिक अधिकार है। उसके लिए उन्हें जेल में नहीं डाला जा सकता।इसलिए स्टेडियम को जेल बनाने की दिल्ली पुलिस की इस अर्जी को दिल्ली सरकार नामंजूर करती है।

Leave a Reply