स्रोत - ANI

कोरोना वायरस के कारण देशभर में सभी सार्वजनिक स्थानों को बंद कर दिया गया था उसी में धार्मिक स्थल/ पूजा स्थल को भी सुरक्षा के हित में लॉक डाउन के दिनों मे बंद कर दिया गया है।
परंतु इन दिनों अमृतसर में हर साल एक प्राचीन मेला प्रसिद्ध था जिसको लेकर भक्तों की आस्था बहुत है इसलिए कल से दर्शन के लिए दरवाजा खटखटा रहे हैं। इस पर मंदिर के पुजारी ने कहां की हम लोगों की आस्था को ध्यान में रखकर दर्शन कराएंगे। जब भक्त मंदिर में आएंगे उसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा इसलिए मंदिर में भक्तों को दर्शन करने के लिए करीब छह फुट की दूरी रखी जाएगी। साथ ही भक्तों को स्कैनिंग व सैनिटाइजर करके अंदर लाया जाएगा।

गृह मंत्रालय द्वारा रविवार को जारी अधिसूचना के अनुसार लॉकडाउन-4 में ज्यादातर अधिकार राज्यों को दिए गए हैं। नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) ने इस बारे में ऑर्डर जारी किया। इसमें केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों तथा राज्य सरकारों को कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए उपाय करने को कहा गया है। लॉकडाउन 31 मई तक जारी रहेगा। हालांकि इसमें छूटों का प्रावधान किया गया है। परंतु सभी तरह के सामाजिक, राजनीतिक, खेल मनोरंजन, शैक्षिक, सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रम और जलसों की अनुमति नहीं होगी। सभी धार्मिक स्थलए,पूजा स्थल जनता के लिए बंद रहेंगे। धार्मिक जलसों पर सख्त पाबंदी होगी।

Leave a Reply