पोर्नोग्राफी स्क्रीनशॉट

जामिया मिलिया इस्लामिया की छात्रा सफुरा जरगर को गैरकानूनी गतिविधि रोकने के कानून के तहत 10 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था और गैर जमानती धाराओ में उन पर मामला दर्ज किया गया गिरफ्तारी के बाद से उन पर व्यक्तिगत हमले किए जा रहे हैं। पहले उनके गर्भवती होने को लेकर सोशल मीडिया पर भद्दे कमेंट किए जा रहे थे उसके बाद सोशल मीडिया पर तस्वीरों का कोलाज बनाकर गलत दावे के साथ शेयर की जा रहे हैं।

सोशल मीडिया

ऐसे ही एक पोर्नोग्राफिक वीडियो एक फेसबुक ग्रुप में इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि इसमें दिखने वाली महिला सफुरा जरगर है साथ ही इस ग्रुप के सदस्य यह कहते हुए दिखे की उन्हें फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजो और वो वीडियो तुम्हें देंगे। इस ग्रुप के कमेंट बॉक्स में लोगों ने वीडियो पाने के लिए अपने फोन नंबर भी शेयर किए। ग्रुप पर कमेंट्स कुछ इस प्रकार के थे ‘भाई भेज ये वीडियो ‘ और ‘ मुझे भी ये वीडियो चाहिए ‘ ऐसे ही तमाम कमेंट इस ग्रुप पर देखे जा सकते हैं।

जिस ग्रुप में यह कमेंट भेजे जा रहे हैं उस ग्रुप का नाम ‘ वी सपोर्ट नरेंद्र मोदी ‘ है जिसमें 30 लाख से भी अधिक लोग शामिल है ये ग्रुप एक प्रोपेगेंडा टूल माना जा रहा है जिसे पहले भी बहुत गलत जानकारियां फैलाते हुए देखा गया है। इस ग्रुप के पोस्ट भाजपा या पीएम मोदी की तारीफ में होते हैं या विपक्ष की आलोचना करने में।
माना गया है कि गलत जानकारियां शेयर करने में इस ग्रुप का कोई मुकाबला नहीं है।

सोशल मीडिया स्क्रीनशॉट

ऐसे ही कई ग्रुप में इस वीडियो का स्क्रीनशॉट शेयर किया गया। एक राघव राजपूत नाम के व्यक्ति ने यह पोस्ट ‘आई सपोर्ट इंडियन आर्मी ‘ के नाम के ग्रुप में भी शेयर किया। हालांकि इस ग्रुप के यूआरएल में ‘दि रियल हीरो नरेंद्र मोदी’ लिखा हुआ मिलता है।

सोशल मीडिया स्क्रीनशॉट

यह वीडियो फेसबुक ग्रुप के साथ साथ व्हाट्सएप पर भी खूब शेयर किया गया।

फैक्ट चैक

अगर बात करते हैं इस वीडियो की सच्चाई की तो यह वीडियो पोर्नोग्राफी वेबसाइट से उठाया गया है और वीडियो में दिख रही महिला का नाम सेलेना बैंक्स है वेबसाइट पर सेलेना का वेरीफाइड अकाउंट है जिसमें 25 हजार सब्सक्राइबर्स है।
इस तरह एक पोर्नोग्राफिक वीडियो को गलत तरीके से सफूरा जरगर का बताकर सोशल मीडिया चलाया गया।

Leave a Reply