योगी आदित्यनाथ

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अपनी टीम 11 के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रवासी मजदूरों की सुरक्षित और सम्मानजनक प्रदेश वापसी सुनिश्चित की है, सम्बंधित राज्य सरकारें उत्तर प्रदेश के मजदूरों की सूची उपलब्ध कराएं। उन्होंने बताया कि पिछले एक सफ्ताह में 590 श्रमिक स्पेशल ट्रेन देश के विभिन्न राज्यों से प्रवासी मजदूरों को लेकर आई है। राज्य सड़क परिवहन निगम की 12 हजार बसों के माध्यम से प्रवासी मजदूरों को उनके गृह जनपद में भेजने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा सभी 75 जनपदों को 15 हजार बसें अतिरिक्त रूप से उपलब्ध कराई गई हैं।

मुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर यह बैठक किए। इस उच्च स्तरीय बैठक में उन्होंने लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश करते ही प्रवासी मजदूरों को भोजन और पानी उपलब्ध कराया जाए। इसके बाद उनकी स्क्रीनिंग करते हुए उन्हें सुरक्षित और सम्मानजनक ढंग से गन्तव्य तक पहुँचाया जाए। उन्होंने कहा कि बॉर्डर क्षेत्र के साथ-साथ टोल प्लाजा, एक्सप्रेस-वे और प्रमुख चौराहे पर प्रवासी मजदूरों के लिए भोजन एवं पेयजल की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने कहा कि लोग पैदल, बाइक, थ्री-व्हीलर या ट्रक आदि जैसे असुरक्षित साधनों से यात्रा न करें। राज्य सरकार प्रवासी मजदूरों को ट्रेन से प्रदेश में निःशुल्क ला रही है।

उन्होंने कहा कि क्वारंटाइन सेंटर तथा कम्युनिटी सेंटर किचन की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त रखा जाए। इनमें साफ-सफाई और सुरक्षा के समुचित व्यवस्था की जाए।यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रह पाए।

उन्होंने टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया। 10 हजार टेस्ट प्रतिदिन करने का आदेश दिया। कोविड अस्पतालों में सभी वेंटीलेटरो को क्रियाशील रखा जाए। अस्पतालों की बेड क्षमता को बढ़ाकर 1 लाख किया जाए। चिकित्सा कर्मियों और पुलिसकर्मियों को इंफेक्शन से बचाने के लिए सभी प्रबंध किए जाएं।

Leave a Reply