उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा है कि अनलॉक-3 के संबंध में भारत सरकार की गाइडलाइन्स के क्रम में प्रदेश शासन के निर्देशों का सख्ती से पालन कराया जाए. मुख्यमंत्री ने 1.15 लाख कोविड-19 टेस्ट प्रतिदिन करने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि डोर टू डोर सर्वे तथा कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के कार्य को तत्परता से किया जाए. यह सुनिश्चित किया जाए कि इन कार्यों में कोई लापरवाही न होने पाए. कोविड संक्रमित व्यक्ति को समय से चिन्हित करते हुए उपचार के लिए उसे चिकित्सालय में भर्ती किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. कंटेनमेंट जोन में प्रतिबन्धों को सख्ती से लागू करते हुए यह सुनिश्चित भी किया जाए कि कंटेनमेंट जोन में लोगों को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता में कोई असुविधा न हो.

मुख्यमंत्री ने राज्य मुख्यालय स्थित इन्टीग्रेटड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में चिकित्सा शिक्षा विभाग के विशेष सचिव स्तर के अधिकारी को तैनात किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे यह सेंटर और बेहतर ढंग से कार्य कर सकेगा. उन्होंने कहा कि अतिरिक्त एम्बुलेंस वाहनों की व्यवस्था के लिए सी एस आर फंड का उपयोग किया जाए. एम्बुलेंस कर्मियों को कोविड संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए उनका प्रशिक्षण कार्यक्रम निरंतर जारी रखा जाए.

मुख्यमंत्री ने बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में प्रभावित लोगों को हर सम्भव राहत और मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि प्रभावित जनता को राहत सामग्री उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनके लिए समुचित चिकित्सीय प्रबन्ध भी किए जाएं. पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था की जाए. राहत कार्यों के लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त नावों की व्यवस्था भी की जाए.

Leave a Reply