स्रोत - ANI

गृह मंत्री अमित शाह ने एएनआई को दिए इंटरव्यू में बताया कि दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सार्वजनिक तौर पर कहा कि दिल्ली में 31 जुलाई तक कोरोना के साढ़े पांच लाख मामले हो जाएंगे और उनके पास व्यवस्था की कमी है। इससे स्थिति थोड़ी पैनिक हो गई थी, लेकिन अब मुझे भरोसा है कि अब यह स्थिति नहीं आएगी क्योंकि कोरोना होने से पहले हमने उसे रोकने के उपायों पर जोर दिया है।

कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं

अमित शाह ने कहा कि आज की तारीख में दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है। चिंता करने की कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना से निपटने के लिए केंद्र, राज्य सरकार और एमसीडी तीनों मिलकर काम कर रही हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली में 350 से ज्यादा शव बिना संस्कार के पढ़े थे। हमने तय किया कि 2 दिनों के भीतर शवों का अंतिम संस्कार धर्म के अनुसार किया जाएगा। अभी कोई भी शव अंतिम संस्कार के बिना नहीं बचा है।
अमित शाह ने कहा कि पहले आइसोलेशन बेड की कीमत 24 – 25 हजार थी जो अब 8 – 10 हजार कर दी गई है वही बिना वेंटीलेटर के ICU का पहले रेट 34 – 43 हजार थी लेकिन अब 13 – 15 हजार हो गया है। इसमें रहने टेस्ट और दवाइयां का खर्च शामिल है।

एम्स से टेलीफोनिक गाइडेंस की व्यवस्था की- अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि ”दिल्ली में अस्पतालों की स्थिति ठीक करने के लिए एम्स से टेलीफोनिक गाइडेंस की व्यवस्था की। डेडिकेटेड नंबर पर कॉल करने पर एम्स के डॉक्टर गाइंडेंस देते हैं। हमने 3 टीमों का गठन किया, जिसमें दिल्ली सरकार के और एम्स के डॉक्टर हैं, और आईसीएमआर के विशेषज्ञ हैं। उन्होंने सभी जगह की कमियों को ठीक करने का हर प्रयास किया है।” उन्होंने कहा, ”कोरोना को लेकर में मैंने NCR की बैठक की है। अरविंद केजरीवाल जी को लूप में रखकर उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की जाएगी और एनसीआर के लिए समन्वित रणनीति हम बनाएंगे। टेस्टिंग बढ़ाना और अन्य व्यवस्थाओं को बढ़ाने का काम एनसीआर में भी किया जाएगा।”

1962 से आज तक दो-दो हाथ हो जाए

अमित शाह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा कि वे सीमा विवाद के दौरान ऐसे बयान दे रहे हैं जिन्हें चीन और पाकिस्तान पसंद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार संसद में चर्चा के लिए तैयार है। संसद होनी है, चर्चा करनी है तो आइए करेंगे। 1962 से आज तक दो- दो हाथ हो जाए। कोई नहीं डरता चर्चा से। जब जवान संघर्ष कर रहे हैं, सरकार ठोस कदम उठा रही है, उस वक्त पाकिस्तान और चीन को खुशी हो ऐसे बयान देने नहीं चाहिए। मैं इसे स्पष्ट कर दूं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत दोनों युद्ध जीतने जा रहा है।

भाजपा में कभी एक ही परिवार और कोई अध्यक्ष नहीं बना

होम मिनिस्टर ने कहा भाजपा में कभी एक ही परिवार का कोई व्यक्ति अध्यक्ष नहीं बना। कांग्रेस में इंदिरा जी के बाद कोई एक अध्यक्ष बता दीजिए जो परिवार के बाहर का हो ये क्या लोकतंत्र की बात करेंगे। आपातकाल को देश की जनता ने याद करना चाहिए, क्योंकि लोकतंत्र की नींव पर तब प्रहार हुआ था।

Leave a Reply