लखनऊ: आज विश्व पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, लखनऊ यूनिवर्सिटी ने फेसबुक पेज के माध्यम से इस वर्ष विश्व पर्यावरण दिवस की थीम सेलिब्रेट बायोडायवर्सिटी पर एक फेसबुक लाइव सेशन रखा। इस सेशन में लखनऊ विश्वविद्यालय के जियोलॉजी विभाग की शोध कार्य छात्रा अभाविप अवध प्रांत कार्य समिति सदस्य गरिमा उप्रेती ने सेलिब्रेट बायोडायवर्सिटी विषय छात्रों के समक्ष रखा। उन्होंने बताया कि बायोडायवर्सिटी क्या है व आज के समय में बायोडायवर्सिटी का संरक्षण क्यों महत्वपूर्ण है और कैसे हम सभी इस बायोडायवर्सिटी का हिस्सा है व पर्यावरण के संतुलन के लिए हर एक जीव का अपना महत्व है इसीलिए इनका संरक्षण भी अनिवार्य है। हमारे द्वारा किए गए कार्यों का किस तरह से जीव जंतुओं पर व उनके पर्यावरण और उनके आसपास के इलाकों पर असर पड़ता है इसके बारे में भी उन्होंने बताया साथ ही उन्होंने यह भी बताया की हमारी गतिविधियां किस तरह से जीव जंतुओं के बेहवियराल चेंजेस और फिजियोलॉजीकल चेंजेस का कारण है। उन्होंने यह भी बताया की लॉक डाउन के समय हम कैसे जीव जंतुओं की सहायता कर सकते हैं उनके लिए मिट्टी के बर्तन में पानी रखकर या खाना रखकर या हमारे आस पास मिलने वाले जानवरों की देखरेख कर साथ ही उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि इस लॉक डाउन का उपयोग कर यह समझने का प्रयास करें कि हमारे आसपास बायोडायवर्सिटी कैसी है व अपने दिनचर्या में हम कौन सी ऐसी चीजें करते हैं जिनकी वजह से उन जीव-जंतुओं पर गलत प्रभाव पड़ता है और हम उसे कैसे ठीक कर सकते हैं ताकि लॉग डॉन खत्म होने के बाद जो पर्यावरण में अच्छा बदलाव आया है वह इसी तरह सतत रहे और लॉक  डाउन के बाद जब सभी लोग बाहर आएंगे तो हमारा पर्यावरण ऐसे ही स्वच्छ रहे।

Leave a Reply