पूरी रात राजस्थान के जयपुर में गहमा-गहमी चलती रही। विधायकों के न पहुंचने के डर से कांग्रेस ने आज सुबह 10:30 बजे होने जा रही विधायक दल की मीटिंग के लिए ह्विप जारी किया। और जो विधायक इसमें नहीं पहुंचेगा उसके बड़ी कार्रवाई हो सकती है। इस बैठक में केन्द्रीय पर्यवेक्षक के रूप रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और अविनाश पाण्डेय भी मौजूद रहेंगे।

इसके पहले कल रात हुई विधायक दल की बैठक में 102 विधायकों में 75 विधायक ही पहुंचे। जिसके बाद उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के आफिस ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि गहलोत सरकार अल्पमत में आ गई है। वहीं कांग्रेस का दावा है कि उसके पास 109 विधायकों का समर्थन पत्र है। और सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है।

इन सबके बीच राजस्थान में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट को देर रात बड़ा झटका लगा है। उनके तीन साथी विधायकों ने गहलोत सरकार को अपना समर्थन दिया है। अभी तक ये तीनों विधायक दिल्ली में थे। लेकिन वे सभी आज होने जा रही विधायक दल की मीटिंग में सम्मिलित भी होंगे। यह सचिन पायलट के खेमे की चिंता बढ़ा देगी।

यह विवाद तब शुरु हुआ जब राजस्थान पुलिस ने उप-मुख्यमंत्री को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा। जिसके बाद अचानक सचिन पायलट दिल्ली आ गए। जहां उन्होंने कांग्रेस नेता अहमद से बातचीत किया। हालांकि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिलने का प्रयास किया था पर उन्होंने समय नहीं दिया।

Leave a Reply