राजस्थान में राजनैतिक उठा-पटक जारी है। शुक्रवार से यहां विधानसभा सत्र शुरू होने वाला है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी बताया कि सरकार कई मुद्दों पर जूझ रही है। हम अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए तैयार हैं। इसके साथ ही नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी कहा कि भाजपा गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। प्रदेश में केंद्र सरकार की योजनाओं की अनदेखी की जा रही है।


राज्यपाल के आदेश के बाद विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से शुरू हो रहा है। शुक्रवार को भाजपा की बैठक में अविश्वास प्रस्ताव लाने की बात कही गयी, अब ऐसे में अशोक गहलोत सरकार के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती है।

बता दें कि गुरुवार को भाजपा ने जयपुर में विधायकों के साथ बैठक की। इसमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी शामिल हुईं। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘कांग्रेस ने जनता के हितों को छोड़कर खुद के हितों का ध्यान रखा। हमारी सरकार ने राजस्थान में 10 साल खूब काम किया था। कांग्रेस सरकार आने के बाद हमारी योजनाओं के नाम बदल दिए गए या बंद कर दी गईं। अब हमें केंद्र के कामों को लोगों तक पहुंचाना है।’

यह भी पढ़ें: राजस्थान के रण में बीजेपी की एंट्री

Leave a Reply