शाम्भवी शुक्ला

सुशांत सिंह राजपूत केस में मामले की जांच करने आई बिहार पुलिस अब वापस पटना लौट चुकी है। अब यह मामला सीबीआई के हाथ में है। बुधवार को बिहार सरकार की सिफारिश को उच्चतम न्यायालय ने मंजूरी दे दी है। कोर्ट का कहना है कि सुशांत एक प्रतिभाशाली कलाकार थे जिनकी मौत की जांच होनी चाहिए।

आपको बता दें कि 14 जून को मुंबई में सुशांत की मौत हो गई। जिसे आत्महत्या बताई गई। उसके बाद यह मामला यह राजनीतिक जोर पकड़ता गया।

वही बिहार सरकार का कहना है कि केंद्र ने मामले की जांच सीबीआई से कराने की मंजूरी दे दी है। साथ ही सीबीआई जांच से न्याय की उम्मीद करने की आशा जताई है। इस पर शिवसेना ने पलटवार कर नाराजगी जताई है। नवाब मलिक का कहना है कि इस याचिका पर न्याय अधिकार क्षेत्र का मुद्दा उठना चाहिए।

आपको बता दें कि पटना स्पेशल पुलिस के अधिकारी आईपीएस विनय तिवारी को बीएमसी द्वारा जबरन क्वॉरेंटाइन करने से यह मुद्दा तेज हो गया। हालांकि अब पुलिस टीम तो पटना लौट चुकी है लेकिन अधिकारी अभी भी क्वॉरेंटाइन हैं। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे के अनुरोध पर भी उनको नहीं छोड़ा गया है।

Leave a Reply