Tejasvi Surya (तेजस्वी सूर्या)

भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की असंवेदनशील टिप्पणियों और कश्मीरी पंडितों के प्रति उनके सरकार में संवेदनशीलता की कमी के विरोध में केजरीवाल सरकार से निःशर्त माफ़ी की माँग लेकर दिल्ली में जोरदार विरोध प्रदर्शन कर विरोध मार्च निकाला गया जिसमें हजारों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। विरोध मार्च सुबह 11 बजे इंद्रप्रस्थ महिला कॉलेज से शुरू होकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के निवास तक निकाला गया। हालांकि, पुलिस ने भाजयुमो कार्यकर्ताओं के खिलाफ वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और उन्हें सीएम के आवास तक पहुंचने से रोक दिया।

यह भी पढ़ेंः  क्शन में तेजस्वी सूर्या, पदाधिकारियों को दिए ये निर्देश ; कांग्रेस पर जमकर बोला हमला

भाजयुमो ने कहा है कि केजरीवाल ने हाल ही में कश्मीर फाइल्स डॉक्यूमेंट्री को टैक्स फ़्री करने की माँग पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली विधानसभा में कश्मीरी पंडितों के 1990 के नरसंहार और अत्याचार का मजाक उड़ाया था। केजरीवाल ने कश्मीरी पंडितों के प्रति कोई सहानुभूति नहीं दिखाई। 1990 के नरसंहार में हज़ारों कश्मीरी पंडित मारे गए, उन पर हमला किया गया, बलात्कार किया गया और उन्हें अपना घर-व्यापार छोड़ कर जाने पर विवश किया गया था। अरविंद केजरीवाल ने इस विषय पर बनी फ़िल्म कश्मीर फ़ाइल्स को टैक्स फ़्री करने की माँग पर बोलते हुए उन्होंने कश्मीर फाइल्स को फर्जी फिल्म तक करार दे दिया। अरविंद केजरीवाल के बयानों से जाहिर है कि कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा उनके और आम आदमी पार्टी के लिए उपहास का विषय है। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे श्री सूर्या ने कहा कि केजरीवाल की कश्मीरी पंडितों की पीड़ा पर इस प्रकार की असंवेदनशील टिप्पणी से स्पष्ट है कि वह हिंदुओं के खिलाफ हैं और यह उनकी राजनीति का हिस्सा है।

यह भी पढ़ेंः  PM-Kisan eKYC: मोदी सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत, ई-केवाईसी की तारीख आगे बढ़ाई गई

तेजस्वी सूर्या (Tejasvi Surya)

सूर्या ने कहा-“केजरीवाल ने पहले सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाया और हमारे सशस्त्र बलों का अपमान किया। फिर उन्होंने राम मंदिर का विरोध किया और नियमित रूप से हिंदू प्रतीकों और देवताओं का मजाक उड़ाया। कश्मीरी पंडितों का खून अब उनके लिए हंसी का विषय है। केजरीवाल और उनकी पार्टी ने बार-बार हिंदुओं की भावनाओं का अपमान किया है जिसकी क़ीमत उनको चुकानी पड़ेगी” राष्ट्रीय महासचिव राजू बिस्ता, रोहित चहल और वैभव सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अभिनव प्रकाश, राष्ट्रीय सचिव तजिंदर बग्गा, दिल्ली भाजयुमो अध्यक्ष वासु रुख़र, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य विशु बसोया और अभिमन्यु त्यागी समेत हज़ारों युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन में भाग लिया।

यह भी पढ़ेंः  कट्टरता के कैंसर को उजागर करती ‘द कश्मीर फाइल्स’

साथी प्रदर्शनकारियों से बात करते हुए सूर्या ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की राजनीति लोकलुभावनवाद की धारणा पर आधारित है, जिसमें आर्थिक पक्ष को नज़रअन्दाज़ कर कट्टरपंथी और विभाजनकारी तत्वों को खुश करने का लक्ष्य रखा है। “भाजयुमो ने केजरीवाल के खिलाफ आवाज उठाई है, जो नियमित रूप से अमानवीय अपराधों का उपहास उड़ाते हैं या ऐसे अपराधों का होना ही नाकारते हैं। आम जनता इसे समझ चुकी है और निश्चित रूप से केजरीवाल को सत्ता से बाहर कर देंगे। हम अरविंद केजरीवाल से कश्मीरी पंडितों की भावनाओं को आहत करने के लिए बिना शर्त माफ़ी माँगने की माँग करते हैं।”