आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद लखनऊ महानगर के प्रतिनिधिमंडल ने कोरोना महामारी के दौरान संकट में जूझ रहे विद्यार्थियों के छात्रावासों व मकानों के किराये को माफ करने हेतु जिलाधिकारी महोदय की अनुपस्थिति मे नगर मजिस्ट्रेट महोदय को ज्ञापन सौंपा।
 
राष्ट्रीय मंत्री राहुल वाल्मीकि ने बताया की कोरोना के कारण पिछले 3 महीनें से भारत की अर्थव्यवस्था को एक बड़ा धक्का लगा है, इसका सीधा प्रभाव विद्यार्थियों के ऊपर भी पड़ा है अतः उनके हित का ध्यान रखते हुए विद्यार्थियों से लिये जाने वाले किराये को माफ कर देना चाहिए।

महानगर मंत्री अभिमन्यु प्रताप सिंह ने कहा कि महामारी के कारण किराये पर रहने वाले छात्रों के सामने रहने का संकट खड़ा हो गया है। एक तरफ मकान मालिक उनपर किराया देने का दबाव बना रहे है। वही आर्थिक हालत सही न होने के कारण अभिभावक भी किराया देने में सक्षम नही हैं उन्होंने बताया कि विद्यार्थी परिषद ने जिलाधिकारी महोदय से मांग की है कि विद्यार्थीयों के हितों का ध्यान रखते हुए सरकारी व गैरसरकारी छात्रावासों व मकान मालिकों से वार्ता कर किराया माफ किया जाए जिससे कि विद्यार्थी महामारी के बाद चिंता मुक्त होकर वापस लौट सकें।
इस अवसर पर एबीवीपी के राष्ट्रीय मंत्री राहुल वाल्मीकि, विभाग संगठनमंत्री अंशुल श्रीवास्तव, महानगर SFS प्रमुख अयाश प्रताप दीक्षित, महानगर इंटर कॉलेज प्रमुख अधीश श्रीवास्तव, क्षितिज सिंह, वंशक  गुप्ता एवं महानगर संगठन मंत्री अनुज श्रीवास्तव उपस्थित रहे। उक्त जानकारी प्रान्त मीडिया सहसंयोजक अंशुमान बरनवाल ने दी।

Leave a Reply