tnnonline

शांभवी शुक्ला

बिहार चुनाव में लगातार सस्पेंस दिखाई दे रहा है। एनडीए और एनसीपी गठबंधन में आए दिन नई नई बातें सामने आ रही हैं। खबर है कि सांसद और एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। जबकि कांग्रेस और आरजेडी के बीच सीटों का बंटवारा तय होता नजर आ रहा है।

चिराग पासवान पिछली बार के चुनाव की तरह 42 सीटों की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि अगर उनकी यह मांग नहीं मानी गई तो वहां अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करेंगे। संभव है कि आज वह बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव से मुलाकात भी कर सकते हैं। जिसके बाद 2 दिनों के अंदर उनकी स्थिति साफ हो जाएगी।

दूसरी ओर महागठबंधन के खेमे से ख़बर है कि कांग्रेस और आरजेडी के बीच सीटों का बंटवारा हो गया है। आरजेडी ने 58 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार उतारने की मंजूरी दे दी है। इस बार उपेंद्र कुशवाहा की रालो सपा के न रहने से कांग्रेस को फायदा होता नजर आ रहा है। वहींउपचुनाव में भी वाल्मीकि नगर से कांग्रेस का ही उम्मीदवार मैदान में उतारा जाएगा।

हालांकि कयास लगाए जा रहे हैं उपेंद्र कुशवाहा जल्द ही एनडीए में शामिल हो सकते हैं। उनकी स्थिति 2 दिनों में साफ हो जाएगी। इसी कारण से महागठबंधन की ओर से उनके बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। लेकिन मांझी और कुशवाहा के महागठबंधन छोड़ देने से निश्चित तौर पर महागठबंधन को काफी बड़ा नुकसान होना तय है। वहीं एनडीए को मजबूती भी मिल रही है।

Leave a Reply