फ़ाइल फोटो

कांग्रेस पार्टी ने फैसला लिया है कि हर राज्य में फंसे जरूरतमंद प्रवासी मजदूरों के लिए रेल यात्रा की लागत वहन करेगी और इस संबंध में आवश्यक कदम उठाएगी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बताया कि प्रत्येक राज्य की कांग्रेस कमिटी जरूरतमंद प्रवासी मजदूरों की रेल यात्रा का टिकट खर्च वहन करेगी।

कांग्रेस पार्टी के तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में सोनिया गांधी ने कहा कि श्रमिक और कामगार देश की रीढ़ की हड्डी हैं। उनकी मेहनत और कुर्बानी राष्ट्र निर्माण की नीव है। उन्होंने कहा कि मेहनतकश श्रमिकों और कामगारों की इस निशुल्क रेलयात्रा की मांग को बार-बार उठाया है। दुर्भाग्य से न सरकार ने एक सुनी और न ही रेल मंत्रालय ने।

उन्होंने कहा कि इसलिए, कांग्रेस ने यह निर्णय लिया है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी की हर इकाई हर जरूरतमंद श्रमिक व कामगार के घर लौटने की रेल यात्रा का टिकट का खर्चा वहन करेगी व इस बारे में जरूरी कदम उठाएगी।

सोनिया गांधी ने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब हम विदेशों में फंसे भारतीयों को अपना कर्तव्य समझकर हवाई जहाज से निशुल्क वापस लेकर आ सकते हैं,जब हम गुजरात के केवल एक कार्यक्रम में सरकारी खजाने से 100 करोड़ रुपये, ट्रांसपोर्ट व भोजन इत्यादि पर खर्च कर सकते हैं, जब रेल मंत्रालय प्रधानमंत्री के कोरोना फण्ड में 151 करोड़ रुपये दे सकता हैं, तो फिर तरक्की के इन ध्वजवाहकों को आपदा के इस घड़ी में निशुल्क यात्रा की सुविधा क्यों नहीं दे सकते हैं।

उन्होंने कहा कि दुख की बात यह है कि भारत सरकार व रेल मंत्रालय इन मेहनतकशों से मुश्किल की इस घड़ी में रेल यात्रा का किराया वसूला रहे हैं।

Leave a Reply