स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने मंगलवार को बताया कि हमारे देश में संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों का प्रतिशत बढ़ रहा है। अब तक कोरोना के 60,490 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। मार्च में जो रिकवरी रेट 7.1 फीसदी था, वो अब बढ़कर 41.61 प्रतिशत हो चुका है।
लव अग्रवाल ने अपनी प्रेस कॉन्फेंस में विश्व के दूसरे देशों की तुलना में हमारे यहां कम मामले हैं। हम ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग करने की कोशिश में लगे हैं।

लॉकडाउन 2.0 में रिकवरी रेट यह बढ़कर 11.24 फीसदी रहा वहीं पर लॉकडाउन 3.0 में यह बढ़कर 26.59 फीसदी हो गया था और अब लॉकडाउन 4.0 में यह प्रतिशत 41.61 हो गया है। लव अग्रवाल ने बताया कि दुनिया में अब तक मौत की दर प्रति लाख आबादी में 4.4 रही है जबकि हमारे देश में प्रति लाख आबादी में 0.3 लोगों की मौत हुई। भारत में प्रति लाख आबादी पर 10.7 मामले दर्ज किए गए हैं। मृत्यु दर के मामले में भी सुधार हुआ है। हमारे यहां जो मृत्यु दर पहले 3.03 फीसदी थी, वो अब 2.87 हो गई है।

इसके साथ ही स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल ने यह भी बताया कि देश में आज 612 लैब कोरोना टेस्टिंग की हैं।  उसके साथ ही 430 सरकारी लैब हैं और 182 प्राइवेट लैब हैं। टेस्टिंग की औसत भी बढ़ाई गयी है। अब एक दिन में औसतन 1.1 लाख टेस्टिंग हो रही हैं।

Leave a Reply