स्रोत - ANI

कोरोना वायरस के संकट के बीच दिल्ली सरकार ने समाचार पत्रों में एक विज्ञापन प्रकाशित करवाया जिसमें सिक्किम को नेपाल और भूटान की तरह अलग देश के तौर पर बताया गया विज्ञापन में लिखा था कि सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए ‘भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो’ सभी लोग आवेदन कर सकते हैं इसके साथ अरविंद केजरीवाल की फोटो छपी थी।
उसके बाद से इस विज्ञापन को लेकर बवाल मचा हुआ है सिक्किम के मुख्यमंत्री ने दिल्ली सरकार के इस मुद्दे को सुधारने के लिए अनुरोध किया है जिसके चलते अरविंद केजरीवाल ने विज्ञापन वापस ले लिया और जिस अफसर से यह गलती हुई थी उसे सस्पेंड कर दिया।

सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह ने कहा ‘दिल्ली सरकार के जरिए विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित इस विज्ञापन में सिक्किम के साथ-साथ भूटान और नेपाल जैसे देशों का उल्लेख है 1975 से भारत का हिस्सा रहा है और 1 सप्ताह पहले ही राज्य दिवस मनाया गया है।’
वही अब इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सफाई दी है केजरीवाल ने कहा सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है ऐसी त्रुटियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता विज्ञापन वापस ले लिया ले लिया गया है और इससे संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई।

वहीं दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने भी सीएम केजरीवाल पर निशाना साधा है। ट्वीट करते हुए कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल प्रचार-प्रसार में इतना व्यस्त हैं कि उन्हें ये भी नहीं पता सिक्किम भारत का हिस्सा है या भारत से बाहर का। उनकी याद के लिए बता दूं कि सिक्किम भारत का ही हिस्सा है।

Leave a Reply