स्रोत - ANI

सोमवार से दिल्ली में लॉकडाउन 4.0 की शुरुआत हो चुकी है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार की शाम को लॉकडाउन के चौथे चरण की गाइडलाइन को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि हमें अपनी अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए चीजों को धीरे-धीरे खोलना पड़ेगा। जैसा कि कल केंद्र सरकार ने भी लॉकडाउन के चौथे चरण से संबंधित दिशानिर्देश जारी कर दिया है। 31 मई तक लॉकडाउन जारी रहेगा, लेकिन इसमें कई चीजों पर ढील दी जाएगी। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एक दो महीने में तो कोरोना खत्म होने वाला नहीं है। अब हमें कोरोना के साथ अपनी जिंदगी चलाने की आदत डालनी होगी।

किन-किन चीजों को खोलने की अनुमति

अरविंद केजरीवाल ने नई गाइडलाइन जारी करते हुए कहा कि दिल्ली परिवहन निगम के तहत डीटीसी और क्लस्टर बसों के संचालन शुरू किया जाएगा, परंतु एक डीटीसी बस में सिर्फ 20 लोगों को ही बैठने की अनुमति होगी। हॉटस्पॉट जोन में बसों की आवाजाही नहीं होगी। सवारियों को बसों में एंट्री करने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।

गाइडलाइन में दिल्ली में रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति भी दी गई, परंतु वहां बैठकर खाना वर्जित होगा। लेकिन होम डिलीवरी की जा सकेगी।
ऑटो चालक, कैब, ई-रिक्शा, टैक्सी चलाने की भी अनुमति दे दी गई है,परंतु एक कैब में दो लोगों को बैठने की अनुमति होगी।
अब लोगों को अपने वाहन चलाने की भी अनुमति दे दी गई है, परंतु एक बाइक पर एक व्यक्ति ही बैठ सकता है और एक कार में दो लोगों की बैठने की अनुमति दी गई।
वहीं, दुकाने खोलने की अनुमति दे दी गई है। लेकिन दुकानों को ऑड-ईवन के फार्मूले में खोला जाएगा। साथ ही दुकान वालों को सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान भी रखना होगा।
दिल्ली में इंडस्ट्रियल एरिया खोलने की भी अनुमति दे दी गई है। साथ में कंट्रक्शन कार्य की भी इजाजत मिल गई है, परंतु दिल्ली के वर्कर ही काम करेंगे। दूसरे राज्य से मजदूरों को नहीं बुलाया जाएगा।

शादी विवाह जैसे कार्यक्रमों को भी अनुमति दे दी गई है, परंतु 50 लोगों को ही शामिल करने की अनुमति है। वहीं, किसी के अंतिम संस्कार में 20 लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई।

क्या नहीं खुलेंगे

दिल्ली में जहां एक तरफ कुछ चीजों पर राहत दी गई है। वही, यह भी साफ कर दिया गया कि किन चीजों को खुलने कि अनुमति नहीं होगी। स्विमिंग पूल बंद रहेगा, होटल में गतिविधियां नहीं होंगी, ब्यूटी पार्लर और सैलून भी बंद रहेंगे, स्कूल कॉलेज भी नहीं खुलेंगे, कोई धार्मिक स्थल नहीं खुलेंगे।
दिल्ली मेट्रो के संचालन को भी खुलने की अनुमति नहीं है।

राज्य में कोरोना के मामले

दिल्ली में कोरोना के अब तक 10,054 मामले सामने आ चुके हैं, परंतु इसमें से 45 प्रतिशत लोग ठीक हो कर घर भी जा चुके हैं। बीते 24 घण्टों में दिल्ली में कोरोना से मरने वालो की संख्या अब तक 148 पहुंच चुकी है।

Leave a Reply