केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को शाहीन बाग की ऐक्टिविस्ट बिलकीस दादी का समर्थन मिला है। बिलकीस दादी किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने के लिए सिंधु बॉर्डर पहुंचीं हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को हमारी बात सुननी चाहिए।
लेकिन उन्हें किसानों तक पहुंचने से पहले ही पुलिस ने रोक लिया है।

आंदोलनकारी किसानों के समर्थन में उतरीं बिलकीस दादी ने कहा कि हम किसानों की बेटियां हैं, हम आज किसानों के प्रोटेस्ट का समर्थन करने जाएंगे। हम अपनी आवाज उठाएंगे, सरकार को हमारी बात सुननी चाहिए।

बिलकीस दादी उस वक्त सुर्खियों में आईं थीं, जब उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग आंदोलन में धरना पर बैठकर ध्यान आकर्षित किया था। पिछले साल मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन एक्ट पास किया था, जिसके बाद पूरे देशभर में प्रदर्शन हुआ था।

Leave a Reply