स्रोत: ANI

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘मन की बात’ के जरिए देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने अपने कार्यक्रम की शुरुआत एक खुशखबरी के साथ की। उन्होंने बाताय कि देवी अन्नपूर्णा की चोरी हुई मूर्ती कनाडा से वापस आ रही है। उन्होंने इसके लिए कनाडा सरकार को धन्यवाद भी कहा।
पीएम मोदी कहा कि भारत धार्मिक आस्थाओं से जुड़ी हुई चीजों की चोरी पर रोक लगा रहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की क्राइसेस में कल्चर बहुत काम आता है। उन्होंने कहा कि मुश्किल दौर में कल्चर बड़े इमोशनल रिचार्च के काम आता है।

पीएम मोदी ने कहा कि महामारी ने जहां काम करने के अनुभव को बदला है वहीं इससे हमें प्रकृति को दूसरे नजर से देखने का मौका भी मिला है।

भारत की संस्कृति और शास्त्र का महत्व बताया

पीएम मोदी ने भारत की संस्कृति को लेकर कहा कि भारत की संस्कृति और आस्था पूरी दुनिया में आकर्षण का केंद्र रही। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में भारत की संस्कृति की चर्चा होती है और दूसरे देशों में इसके बारे में शिक्षा दी जाती है।
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मुझे जोनस मैसेट्टी के काम के बारे में पता चला, जिन्हें ‘विश्वनाथ’ के नाम से भी जाना जाता है। जोनास ब्राजील में वेदांत और गीता पर पाठ देता है। वह ‘विश्वविद्या’ नामक एक संस्था चलाते हैं, जो रियो डी जनेरियो से एक घंटे की दूरी पर पेट्रोपोलिस की पहाड़ियों में स्थित है। उन्होंने आगे बताया कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद, जोनास ने अपने शेयर बाजार कंपनी के लिए काम किया। बाद में वे भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित हुए, खासकर वेदांत की ओर। उन्होंने भारत में वेंदांता का अध्ययन किया और कोयम्बटूर में अर्श विद्या गुरुकुलम में 4 साल बिताए। मैं जोनास को उनके प्रयासों के लिए बधाई देता हूं।

कोरोना काल में लंगर योजना ने लाखों लोगों की मदद की

पीेम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में गुरु नानक जयंति के अवसर पर देशवासियों को अपनी शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि गुरुनानक देव की मुझ पर हमेशा असीम कृपा रही है। उन्होंने कहा कि लंगर योजना को गुरुनानक देव ने शुरू किया और हमने देखा कि कोरोना काल में लंगर योजना ने लाखों लोगों की मदद की।

कृषि कानून: अफवाहो से दूर रहे

पीएम मोदी ने कृषि बिल पर भी बात की। उन्होंने कहा कि काफी विचार विमर्श के बाद नए सुधार किए। उन्होंने नए कृषि कानून से किसानों को मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा कि नए कृषि कानून किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए पारित किया गया। उन्होंने किसानों से कहा कि अफवाहों से दूर रहें। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून के माध्यम से किसानों की पुरानी मांगे पूरी की गई।

Leave a Reply