ट्विटर

विश्‍व पर्यटन दिवस के मौके पर गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को ‘डेस्टिनेशन नॉर्थ-ईस्‍ट 2020’ फेस्‍ट का वर्चुअली उद्घाटन किया। उन्‍होंने कहा कि बिना पूर्वोत्‍तर के, भारत और भारतीय संस्‍कृति अधूरी है। उन्‍होंने कहा क‍ि पूर्वोत्‍तर की संस्‍कृति भारतीय संस्‍कृति का आभूषण है। शाह ने अपनी सरकार के फैसले गिनाते हुए कहा कि ‘पूर्वोत्‍तर में शांति स्‍थापित करना जरूरी था ताकि अर्थव्‍यवस्‍था, पर्यटन और रोजगार पर आगे बढ़ा जा सके। उन्‍होंने कहा कि पूर्वोत्‍तर पहले हिंसा, उग्रवाद और बंद के चलते सुर्खियों में रहता था, अब वहां विकास की बातें होती हैं।

पूर्वोत्‍तर जैसी खूबसूरती कहीं नहीं’
शाह ने कहा कि उन्‍होंने भारत के कई पर्यटन स्‍थल घूमे हैं, लेकिन पूर्वोत्‍तर जैसी बात कही नहीं है। उन्‍होंने कहा, “पूर्वोत्‍तर के बिना, भारत और भार तीय संस्‍कृति अधूरे लगते हैं। भारतीय संस्‍कृति को तबतक पूर्ण नहीं समझा जा सकता जबकि उसमें पूर्वोत्‍तर की संस्‍कृति शामिल न हो जाए क्‍योंकि पूर्वोत्‍तर की संस्‍कृति भारतीय संस्‍कृति का मुकुट है।”

Leave a Reply