कांग्रेस में नेतृत्व कलह अब खुल कर सामने आ गया है। कुछ नेता राहुल गांधी को पसंद कर रहें हैं तो कुछ प्रियंका गांधी को। कांग्रेस के सांसद और पूर्व वित्तमंत्री के बेटे कार्ति चिदंबरम ने एक ट्वीट किया और लिखा कि कांग्रेस को अब पुनर्जीवित करने के लिए प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करना चाहिए। जिसके बाद उसी ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद ने लिखा “प्रधानमंत्री उम्मीदवार क्यूँ नहीं”। जिसके बाद एक बात स्पष्ट हो गई कि कांग्रेस में सबकुछ सही नहीं चल रहा है।

यह पहली बार है कि किसी बड़े कांग्रेस के नेता ने राहुल के बजाए प्रियंका गांधी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाने की बात की है। इसके पहले भी कांग्रेस नेतृत्व को लेकर सवाल किए जा चुके हैं। कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा भी आपातकाल को लेकर पार्टी को नसीहत दे चुके हैं। ये सब ऐसे समय में हो रहा है जब प्रियंका गांधी उत्तर की राजनीति में काफी सक्रिय हैं और लगातार वहां के मामलों पर टिप्पणी कर रहीं हैं। जबकि अमेठी में चुनाव हारने के बाद राहुल गांधी उत्तर प्रदेश से दूरी बना चुके हैं।

कौन हैं आचार्य प्रमोद

जो लोग आचार्य प्रमोद से परिचित नहीं हैं उनको बता दें कि आचार्य प्रमोद लखनऊ ने 2019 लोकसभा में बतौर कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि उन्हें राजनाथ सिंह के मुकाबले हार का सामना करना पड़ा था।

Leave a Reply