स्रोत - ANI

दो महीने से भी ज्यादा समय तक लॉकडाउन में रहने के बाद अब 1 जून से देशभर में अनलॉक 1.0 की शुरुआत हो चुकी है। इसी के बाद से मंदिरों में भी चहल-पहल बढ़ गई है। मंदिरों को दर्शन के लिए खोलने की तैयारियां शुरू हो गई हैं।
भक्त एक दूसरे के संपर्क में ना आए इसके लिए मंदिरों में कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं कोरोना वायरस के संक्रमण रोकने के लिए सरकार ने कुछ गाइडलाइंस बनाई है।

पुजारी चंद्रशेखर तिवारी

भोपाल में भी धार्मिक स्थल 8 जून से खोले जाएंगे परंतु धार्मिक स्थलों के लिए केंद्र सरकार की गाइड लाइन पर भोपाल मां वैष्णो धाम नव दुर्गा मंदिर के पुजारी ने कहा कि “हम शराब पीकर जब मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकते हैं तो अल्कोहल से हाथ से सैनिटाइज करके कैसे घुस सकते हैं। हम चाहते हैं आप हाथ धोने की मशीन सभी मंदिरों के बाहर लगाइए लेकिन वहां पर साबुन रखिए उसको हम स्वीकार करेंगे। वैसे भी मंदिर में तो व्यक्ति घर से नहा कर ही प्रवेश करता है।” इसके साथ ही पुजारी ने कहा शासन का कार्य है गाइडलाइन जारी करना लेकिन मैं मंदिरों में सैनिटाइजर मशीन के विरोध में हूं क्योंकि इसमें एल्कोहल होता है।

Leave a Reply