प्रतीकात्मक तस्वीर

सबसे शांत देशों में शुमार स्वीडन बीते शुक्रवार को हिंसक दंगे की चपेट में आ गया। स्थानीय समाचार एजेंसियों की मानें तो यह दंगा तब भड़का जब कुछ चरमपंथियों ने कुरान की प्रतियां जा दी। बताया जा रहा है कि स्वीडन के माल्मो शहर में अब भी स्थितियों पर पूरी तरह से नियंत्रण नहीं पाया गया है।

क्या है पूरा मामला ..

स्वीडन के दक्षिणपंथी नेता रैसमस पालुदन को गुरुवार को माल्मों शहर में ‘नॉर्डिक देशों में इस्लामीकरण’ पर आयोजित एक सेमिनार में हिस्सा लेना था। लेकिन सुरक्षा का हवाला देकर प्रशासन ने कार्यक्रम आयोजित करने से मना कर दिया। जिसके बाद उनके गुस्साए समर्थकों ने शहर में प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों को कुरान की प्रतियां जलाते हुए देखा गया। जिसके बाद अगले दिन शहर में दंगा भड़क गया।