प्रियंका गांधी के पत्र पर आज उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने एक हजार बसों की सूची और और उनके ड्राइवरों की सूचना जल्द से जल्द उपलब्ध करवाने का अनुरोध किया है।

इसके पहले योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर ओछी राजनीति का आरोप लगाते हुए कहा “इस वैश्विक महामारी के समय में कांग्रेस पार्टी द्वारा की जा रही नकारात्मक एवं ओछी राजनीति की निन्दा होनी चाहिए। औरैया में प्रवासी श्रमिकों की मौत के लिये जिम्मेदार एक ट्रक पंजाब से तथा दूसरा राजस्थान से आया था।”

शनिवार को प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखते हुए यूपी सरकार को 1000 हजार बसे चलाने की अनुमति मांगी थी। उन्होंने अपने पत्र में लिखा था “आज यूपी सरकार को पत्र लिखकर कांग्रेस की तरफ से 1000 बसें चलाने की अनुमति मांगी है।
रोज होती दुर्घटनाएं, असहनीय पीड़ा, अमानवीय हालात। हमारे कामगार भाई-बहन और उनके बच्चे संकट के दौर से गुजर रहे हैं। मैंने सरकार से पहले भी अपील की है कि कृपया बसें चलाकर पैदल चल रहे.. .. मजदूरों को घर पहुंचाएं। केवल आज के ही दिन में 3 भीषण दुर्घटनाएं घट गईं। ये मजदूरों को अकेले छोड़ देने का वक्त नहीं है। आशा है उप्र सरकार से सकारात्मक जवाब आएगा।”
इसी पत्र का जवाब आज उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव की तरफ प्रियंका गांधी के निजी सचिव को सम्बोधित करते हुए दिया गया है।

पिछले कई दिनों से हो रही सड़क दुर्घटना के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवासी मज़दूरों से भरे ट्रक,ट्राली जैसे परिवाहनों को प्रतिबन्धित कर दिया था। और उनके लिए सरकार की तरफ से सरकारी बसों की व्यवस्था किया गया था। लेकिन इसके बावजूद भी उत्तर प्रदेश पर बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर इकट्ठा हो गए हैं।

देश भर में जब से लाकडाउन शुरू हुआ है तब से लगातार मजदूरों का पलायन देश भर में हो रहा है। सभी राज्य लगातार प्रवासी मज़दूरों को लाने के लिए श्रमिक ट्रेनों की मदद ले रहें हैं। इसके बावजूद भी पलायन नहीं रूक रहा है।

Leave a Reply