प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्य मंत्री अनुराग प्रेस को सम्बोधित करते हैं जिसमें वो आर्थिक पैकेज के विस्तृत बातकरते हैं। लेकिन शनिवार को हुई घोषणा से RSS से जुड़े मजदूर संघ काफी नाराज है। और उन्होंने वित्तमंत्री की घोषणाओं का विरोध किया।

मजदूर संघ की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि सरकार जिन आठ क्षेत्रों में निजी करण किया है वह दुखद है। और वह यह दर्शाता है कि सरकार के पास कोई ठोस नीति नहीं है। निजीकरण किसी भी प्रकार से देश हित में नहीं हो सकता। मजदूर संघ ने सरकार पर यह भी आरोप लगाया है कि ट्रेड यूनियन से भी बातचीत नहीं हो रहा है। गौरतलब है कि निर्मला सीतारमण ने नीतिगत बदलाव की बड़ी घोषणाएं की। जिसमें 8 महत्वपूर्ण क्षेत्र शामिल है। इन क्षेत्रों में कोयला, खनिज, डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग, एयर स्पेस मैनेजमेंट, एयरपोर्ट, ऊर्जा वितरण और एटॉमिक एनर्जी शामिल हैं।

RSS से जुड़े मजदूर संघ की इस तरह से आलोचना आने वाले दिनों में सरकार को संकट में डाल सकता है

Leave a Reply