चीन के एक फाइटर जेट को ताइवान ने मार गिराया,जिसमें पायलट की हालात काफी गंभीर है। दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच इस बड़ी सैन्य कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है। रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो ताइवान की इस कार्रवाई के बाद दोनों देशों की बीच तनाव और बढ़ सकता है। अगर चीन भी कोई बड़ी सैन्य कार्रवाई करता है तो इससे तृतीय विश्व युद्ध की संभावना और बढ़ जाएगी।

भारतीय समयानुसार दोपहर एक से दो बजे के बीच 5 चीनी फाइटर जेट ताइवान की सीमा में प्रवेश कर गए थे। जिसके बाद ताइवान ने 5 फाइटर जेट को टारगेट जिसमें एक को मारने में सफलता मिली। क्षतिग्रस्त फाइटर के पायलट की स्थिति नाजुक है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ये 5 फाइटर जेट विमान हमला करने के मकसद से गए थे या फिर सिर्फ निरीक्षण करने।

इससे पहले भी चीनी फाइटर जेट ताइवान की सीमा में प्रवेश किए थे तब ताइवन ने चेतावनी देकर उन्हें छोड़ दिया था। वहीं चीन ताइवान के इस हरकत के बाद अमेरिका पर काफी गुस्सा है। जिस मिसाइल से चीनी फाइटर को मारा गया वह अमेरिका से ही ताइवान ने खरीदा है। इस घटना के बाद अमेरिकी सेना भी दक्षिणी सागर में हाई अलर्ट पर है।

इससे पहले ताइवान ने कल अपने पासपोर्ट से रिपब्लिक आफ चाइना हटाकर इस ताइवान के नाम से नया पासपोर्ट कवर जारी किया है। इसके पीछे भी दोनों देशों के बीच बढ़ते विवाद को ही माना जा रहा है।

इस समय चीन का कई देशों के साथ विवाद चल रहा है। भारत ने भी चीनी सैनिकों को सबक सिखाया है। वहीं सीमा पर लगातार बदलते घटनाक्रम की वजह से चीनी राष्ट्रपति शी जीन पींग ने पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया।

Leave a Reply