प्रशांत मिश्रा

कोरोना जैसी खतरनाक महामारी से लोग काफी परेशान हैं इसीके चलते साल 2020 पूरी दुनिया सहित बॉलीवुड के लिए भी काफी खराब रहा है। इस साल के 6 महीने बीत चुके हैं और इन 6 महीनों में हिंदी सिनेमाजगत के कई नामी सितारों को बॉलीवुड ने खोया है। वहीं अब खबर मिली है कि बॉलीवुड के जाने माने एक्शन डायरेक्टर परवेज खान का दिल का दौरा पड़ने से सोमवार को निधन हो गया। वो 55 साल के थे। सीने में दर्द की शिकायत के बाद परवेज को अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। सीने में दर्द होने के कारण वो काफी तकलीफ में थे और उनकी मौत हो गई।

खबरों के अनुसार उनके सहयोगी निशांत खान ने बताया कि ‘उन्हें सुबह दिल का दौरा पड़ा था। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनका निधन हो गया। उन्हें स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी नहीं थी।’ निर्देशक हंसल मेहता ने परवेज खान के निधन पर शोक व्यक्त किया। हंसल मेहता ने ट्वीट कर लिखा, ‘अभी पता चला कि एक्शन डायरेक्टर परवेज खान अब इस दुनिया में नहीं हैं। हमने फिल्म ‘शाहिद’ में एक साथ काम किया था जिसमें उन्होंने दंगों के सीन सिंगल टेक में किए थे। बहुत ही टैलेंटेड, ऊर्जा से भरे हुए और बेहतरीन इंसान। तुम्हारी आत्मा को शांति मिले परवेज। तुम्हारी आवाज अभी भी मेरे कानों में गूंज रही है।’

साल 1986 से परवेज फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं। परवेज ने अपने करियर की शुरुआत एक्शन डायरेक्टर अकबर बक्शी के असिस्टेंट के तौर पर की थी। उन्होंने अक्षय कुमार की फिल्म ‘खिलाड़ी’ (1992), शाहरुख खान की ‘बाजीगर’ (1993) और बॉबी देओल की फिल्म ‘सोल्जर’ में असिस्टेंट एक्शन डायरेक्टर के रूप में काम किया था।

साल 2004 में राम गोपाल वर्मा की फिल्म ‘अब तक छप्पन’ से परवेज खान ने एक्शन डायरेक्टर के तौर पर काम करना शुरू किया। परवेज खान को निर्देशक श्रीराम राघवन के साथ ‘अंधाधुन’ और ‘बदलापुर’ में काम करने के लिए  भी जाना जाता है। परवेज अपने पीछे पत्नी, बेटा, बहू और पोती को छोड़ गए हैं। परवेज खान एक अच्छे डायरेक्टर के साथ एक अच्छे इंसान भी थे उनके निधन के बाद उनके परिवार वाले काफी दुखी हैं।

Leave a Reply