स्रोत: अमर उजाला

शांभवी शुक्ला

बीते दिनों में रोजगार को लेकर युवा सवाल कर रहे हैं।उसके जवाब में प्रदेश सरकार बड़ी भर्ती की तैयारी कर रही है।इसको लेकर पदों के बारे में जानकारी साझा कर दी गई है। सभी विभागों के पदों को मिलाकर यह बात सामने आई है कि पांच लाख़ पद खाली होने वाले हैं।

बता दें कि प्रदेश में 12.64 लाख राज्य कर्मचारियों में से 3.25 लाख पद खाली हैं। जबकि शिक्षक में से 1.70 लाख पद रिक्त है। दोनों विभागों के पदों को मिला दें तो यह आंकड़ा पांच लाख के पार पहुंच जाएगा। जिस पर भर्ती की प्रक्रिया तेज हो गई है।

इन भर्तियों में सभी योग्यता वाले युवाओं को मौका दिया जाएगा। पीसीएस से लेकर जिला स्तर के अलग-अलग पद जैसे लेखपाल, राजस्व निरीक्षक, ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, नर्स, शिक्षक, इंजीनियर, मैनेजर, चपरासी आदि शामिल हैं।

बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों के 69000 पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया जारी है। इसके बाद भी 50000 पदों के खाली रहने की संभावना है। वहीं सहायता प्राप्त परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के 4500 और लिपिक संवर्ग के 1500 पद खाली पाए गए हैं। वहीं माध्यमिक शिक्षा में सहायता प्राप्त विद्यालयों में शिक्षकों के करीब 32 हजार और राजकीय विद्यालयों में करीब छह हजार पद खाली हैं।

इसके अलावा 10768 शिक्षकों के पद राजकीय विद्यालयों में खाली पड़े हैं। उच्च शिक्षा विभाग की बात करें तो सहायता प्राप्त और राजकीय कॉलेजों में 8000 पद रिक्त बताए जा रहे हैं। इस तरह से सबको मिलाकर 1.7 लाख पद खाली हो जाएंगे।

Leave a Reply