tnn online

लखनऊ विश्वविद्यालय में व्याप्त शैक्षिक समस्याओं को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रदर्शन कर कुलपति महोदय को 16 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।  लखनऊ विश्वविद्यालय की इकाई उपाध्यक्ष मानसी गुप्ता ने कहा कि स्नातक प्रवेश की काउंसलिंग के नाम पर लिए जा रहे 1200 रुपए के शुल्क जिसमे रू. 200 नाँन  रिफेंडेबल है।

tnn online

इस पर विद्यार्थी परिषद ने विरोध दर्ज किया है जब प्रवेश पंजीकरण शुल्क  विद्यार्थियों से लिया जा चुका है तो फिर पुनः काउंसलिंग के नाम पर शुल्क क्यों लिया जा रहा है, नवीन सत्र में सभी पाठ्यक्रमों  के बढ़ाए गए शुल्क को तत्काल वापस लिया जाए, प्रोन्नत हुए छात्रों से लिए गए परीक्षा शुल्क को वापस किया जाए या अगले सत्र में समाहित किया जाए।  परिषद के राज्य विश्वविद्यालय कार्य प्रमुख राज शेखर सिंह ने कहा कि छात्रावास  आवंटन समय से तथा सैनिटाइजिंग की उचित व्यवस्था के साथ किया जाए विगत वर्षो से बंद पड़े बीरबल साहनी छात्रावास को नए सत्र में प्रारंभ किया जाए साथ ही एलबीएस छात्रावास में जिम की सामग्री उपलब्ध होने के बावजूद ताले में बंद पड़ी है विश्वविद्यालय इस व्यवस्था को तत्काल ठीक करे। लखनऊ महानगर सहमंत्री शिवम सिंह ने कहा की 2019-20 में प्रोन्नत होने वाले पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम अतिशीघ्र घोषित किया जाए, विभिन्न पाठ्यक्रमों में पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को छात्रावास उसी कैंपस में उपलब्ध कराया जाए जहां उनकी कक्षाएं चलती हैं विद्यार्थियों को समस्याओं के समाधान के लिए कैंपस में भटकना पड़ता है  समस्या के समाधान हेतु एक स्टूडेंट चार्टर की व्यवस्था कैंपस में की जाए जहां विद्यार्थी अपनी समस्याओं का समाधान प्राप्त कर सकें।

tnn online

महानगर के सहमंत्री आदित्य जयसवाल ने कहा कि विभिन्न छात्रावासों में पुस्तकालय की व्यवस्था को पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है उसे पुनः प्रारंभ किया जाए जिससे विद्यार्थियों को छात्रावास में पुस्तकालय का लाभ मिल सके, परिसर में बने हुए स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्थाओं को ठीक किया जाए अनुभवी शिक्षकों व दवाइयों की व्यवस्था की जाए।

tnn online

इकाई उपाध्यक्ष शशांक तिवारी ने कहा कि छात्रों की फेलोशिप एवं छात्रवृत्ति से जुड़ी सभी समस्याओं का जल्द निराकरण किया जाए जिससे उनका शोध कार्य और शिक्षा बाधित ना हो, महानगर के सहमंत्री सिद्धार्थ शाही ने कहा कि ऐसे शोधार्थी जिन्हें कोई छात्रवृत्ति नहीं मिलती है शोध कार्य को बेहतर बनाने की दृष्टि से उन्हें  छात्रवृत्ति उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाए। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता मनीष दधीचि ने कहा की छात्रावासों में लॉकडाउन के दौरान विद्यार्थी नहीं रहे हैं इस दौरान मेस का उपयोग नहीं किया गया है विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग है कि इस अवधि का शुल्क वापस किया जाए या इस सत्र में समाहित किया जाए।

tnn online

प्रदर्शन के दौरान वैभव सक्सेना, आयास दीक्षित, अधीश श्रीवास्तव, अपूर्व दिवेदी, सौरभ राय,नितीश सिंह, शांतनु, हरप्रीत सिंह, अभिषेक सिंह, प्रदुयूम शुक्ल, प्रवीण यादव, अतुल पाण्डेय, अपर्णा मिश्रा , अंशुल श्रीवास्तव, आलोक पाण्डेय, अनुज श्रीवास्तव , गौरव प्रकाश, निखिल, धनञ्जय चतुर्वेदी आदि विद्यार्थी व् कार्यकर्ता मौजूद रहे|
भवदीय
अपूर्व दिवेदी
मो. 9670706464

Leave a Reply