स्रोत - इंडियन एक्सप्रेस

देश भर के उच्च शिक्षण संस्थानों और विश्वविद्यालयों ने अंतिम वर्ष के छात्रों को एक बड़ी राहत देने का फैसला किया है। दरअसल हरियाणा विश्वविद्यालय के कुलपति आरसी कुहाड़ की अध्यक्षता वाले पैनल ने कहा की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं रद्द कर दी जाए और पिछले सेमेस्टर की परीक्षाओं और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर उनको पास कर दिया जाए।
पैनल का कहना है कि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण परीक्षाएं नहीं करवानी चाहिए और ऑनलाइन परीक्षा देने के लिए अभी कोई तैयार नहीं है। यह बात एचआरडी मंत्रालय ने द न्यूज़ इंडियन एक्सप्रेस को बताया।

समिति ने यह भी कहा कि जो छात्र पिछली परीक्षाओं के अंको से खुश नहीं है उन्हें महामारी के बाद एक और मौका दिया जा सकता है अपने अंको को सुधारने के लिए इन सिफारिशों के आधार पर यूजीसी को उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए इस सप्ताह के अंत में व्यापक दिशानिर्देश जारी करने की उम्मीद है।
सिफारिशें ऐसे समय में आई है जब भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जैसे तकनीकी संस्थान महामारी के मद्देनज ऑनलाइन मोड के माध्यम से ही नए सत्र की शुरुआत करने के लिए तैयार रहें हैं।

Leave a Reply