उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार अपराध और अपराध को बढ़ावा देने वाले लोगों पर सख्ती से कार्रवाई कर रही है। पिछले कई महीनों से पूर्वांचल के डान कहे जाने वाले मुख्तार अंसारी और उनके परिवार की एक-एक अवैध संपत्तियों को खोज-खोज कर जमींदोंज किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर पुलिस कमिश्नर लखनऊ ने मुख़्तार अंसारी के दोनों बेटों (उमर और अब्बास) पर 25-25 हज़ार का ईनाम घोषित किया है। मामला है डालीबाग के इलाके में एक सरकारी जमीन पर टावर के निर्माण का। सरकारी दस्तावेजों में यह जमीन एक मुस्लिम व्यक्ति का है जो 1952 में पाकिस्तान चले गए।

मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजल अंसारी गाजीपुर से बसपा के सांसद निर्वाचित हुए हैं। लेकिन इसके बावजूद सरकार एक भी मसले पर रियायत देने के मूड में नहीं है। इसके पहले मुख्तार अंसारी से जुड़े लोगों का लाइसेंस भी रद्द किया जा चुका है।

Leave a Reply