(तस्वीर फाइनेंशियल एक्सप्रेस)

देश में लाकडाउन का तीसरा चरण चल रहा है। पहले दो चरणों की अपेक्षा तीसरे चरण में गृहमंत्रालय ने कुछ जरूरी छूट लोगों को दिया है। इसी छूट में शराब की दुकाने खोलने की बात कही गई है। शराब की दुकान खुलते ही उसके बाहर लम्बी-लम्बी कतारें देखी गई। सोशल डिस्टेसेंसिग के नियम की धज्जियां उड़ाई गई। इसको देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार ने शराब की आनलाइन बिक्री शुरू करने का फैसला किया है।

कैसे खरीद सकेंगे शराब

जो भी व्यक्ति शराब खरीदना चाहता है उसे आनलाइन आवेदन करना होगा जिसके बाद सरकार शराबों की होम डिलेवरी करेगी। 21 साल से कम उम्र के लोग आवेदन नहीं कर सकते। यह सुविधा पश्चिम बंगाल स्टेट बेवरेजेस कॉर्पोरेशन (BEVCO) की ओर से दी जा रही है।

https://excise.wb.gov.in/eRetail/Page/eRetail_Login.aspx

हालांकि आनलाइन शराब बिक्री से रिटेल व्यापारी बुरी तरह प्रभावित होंगे। शराब एसोसिएशन का कहना है कि अगर पश्चिम बंगाल स्टेट बेवरेजेस कॉर्पोरेशन (BEVCO) ही आनलाइन शराब बेचना शुरू कर देगा तो उनके लाइसेंस का क्या होगा।

क्यों खोलनी पड़ी शराब की दुकानें

जब देश में लाकडाउन के कारण सबकुछ बंद है और सिर्फ जरूरी सामान वाले दुकानों को खोलने का आदेश है। ऐसे में शराब की दुकानें क्यों खोली गई। फैक्ट्री और अन्य क्षेत्र बंद होने के कारण सरकार की कमाई कम हो रही थी। शराब,सरकार की कमाई का मुख्य स्त्रोत है। अकेले बंगाल में शुरूआती दो दिनों में 100 करोड़ की शराब बेची गई।

बंगाल का कोरोना ग्राफ

शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना के ताजा आंकड़े जारी करते हुए बताया कि देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 56 हजार के पार पहुंच गई है। देश में अबतक 16,540 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं जबकि 1,886 लोगों की मौत हुई है। अगर बंगाल की बात करें तो वहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 1,548 हो गई है। जिसमें 364 लोग स्वस्थ हुए हैं जबकि 151 लोगों की मृत्यु भी हो चुकी है।

Leave a Reply