स्रोत - इंडिया टीवी

भाजपा द्वारा राजीव गांधी फाउंडेशन की फंडिंग पर सवाल उठाए जाने के बाद कांग्रेस ने पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि पीएम केयर्स फंड में चीनी कंपनियां दान दे रही हैं।
कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा “इस फण्ड में ₹ 7 करोड़ Huwai द्वारा दिया गया है। यह कम्पनी चीनी आर्मी PLA से सम्बंधित है। टिक-टॉक ने ₹ 30 करोड़, Paytm ने ₹ 100 करोड़ दिए हैं। जिओमी से ₹ 15 करोड़ और ओप्पो से ₹ 1 करोड़ की सूचना है।” सिंघवी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा ” इस सरकार के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा महत्वपूर्ण नहीं है। इसके लिए वही महत्वपूर्ण है- जो ये बोल दे। उस एक व्यक्ति के बारे में हम सब जानते हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा के इतने बड़े मुद्दे के बीच इस सरकार का ध्यान आरजीएफ़ पर है।
उन्होंने यहां भी कहा कि “पिछले दिनों में सरकार की तरफ से आरोप-प्रत्यारोप आए हैं, लेकिन तथ्यों के आधार पर कोई जवाब नहीं आया है। अतीत की बातें हुई है, मगर राष्ट्रीय सुरक्षा पर कोई ठोस जवाब नहीं आया। पिछले 10-12 साल में चीन से जितना संपर्क भाजपा के अध्यक्षों का रहा है, उतना देश की किसी भी पार्टी का नहीं रहा।”

इसके साथ ही सिंघवी ने कहा “चीन से मोदी जी जितने संपर्क शायद किसी प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नहीं रहे। 4 बार मुख्यमंत्री रहते हुए, 5 बार प्रधानमंत्री रहते चीन दौरा या आदान-प्रदान सब जानते हैं। मगर 6 साल में मोदी ने चीन से 18 बैठकें की है।”

उन्होंने कहा कि अगर 2013 की बात करें तो डेपसांग और वाई जंक्शन में चीन ने यही प्रयत्न किया था। लेकिन उन्हें वहां से हटा दिया गया। जब झूला झुला रहे थे, तब चुमार हुआ और 2017 में डोकलाम हुआ था।

सिंघवी ने कहा “2007 और 2008 में राजनाथ सिंह की सीसीपी से भेंट, 2009 में आरएसएस की भेंट, 2011 में गडकरी जी की अध्यक्ष की हैसियत से चीन यात्रा, 2014 में अमित शाह द्वारा सांसदों का दल चीन भेजना। इतनी यात्राएं किसी पार्टी ने नहीं की।”
कांग्रेस के नेता हैरान है कि मोदी ने चीनी कंपनियों से धन क्यों स्वीकार किया। उन्होंने मोदी से कहा कि वह पहले चीन को एक हमलावर कहें, दूसरा देश को यह बताने के लिए कि चीन ने भारतीय क्षेत्र में कितनी दूर तक घुसपैठ की है, और तीसरा यह कहे की केंद्र राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेगा। सिंघवी ने कहा “इन तीनों कथनों को कहिए और हम आपके पीछे खड़े रहेंगे और खत्म होने तक लड़ेंगे।”

वही कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि बीजेपी को कांग्रेस और राहुल गांधी के खिलाफ इल्जाम लगाने का बहुत समय मिल जाता है। असलियत कैसे छुपाएंगे आएंगे आप, चीनी कंपनियों ने पीएम केयर्स फंड में सैकड़ों करोड़ों का चंदा कैसे डाला। आपने किस लिए चीनी कंपनियों से यह चंदा वसूला यह तो देशवासी जानना चाहेंगे।

Leave a Reply