प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

शाम्भवी शुक्ला

अयोध्या: 5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री का आगमन सुनिश्चित हुआ है। इसके लिए प्रधानमंत्री का रोडमैप तैयार हो चुका है। अयोध्या आने के बाद सबसे पहले पीएम हनुमानगढ़ी जाएंगे। हनुमान जी के दर्शन करने के बाद वह जन्मभूमि पहुंचेंगे। अयोध्या में कहा जाता है कि रामलला से मिलने से पहले हनुमान जी की अनुमति लेनी पड़ती है। इस मान्यता पर अमल करते हुए प्रधानमंत्री बजरंगबली की शरण में जाएंगे। फिर रामलला के दर्शन करेंगे। भूमि पूजन के लिए 32 सेकंड का मुहूर्त निर्धारित हुआ है। 5 अगस्त कि सुबह 11:30 बजे प्रधानमंत्री भूमिपूजन करेंगे। गर्भ ग्रह के स्थान पर भूमि पूजन होना सुनिश्चित हुआ है। आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में आडवाणी और जोशी को भी सम्मिलित होने का न्योता भेजा गया है।

राम की पैड़ी अयोध्या

जानकारी है कि इस अवसर पर प्रधानमंत्री अपना ऐतिहासिक भाषण राम मंदिर पर देंगे। साथ ही वह कई विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी करेंगे। इसके बाद वह राम मंदिर परिसर में कुछ समय बिताने के साथ निर्माण कार्यों की योजना के बारे में जानकारी लेंगे। साथ ही संत महात्माओं से मुलाकात भी करेंगे।

प्रधानमंत्री के आगवानी के लिए तैयार अयोध्या

एक तरफ जहां भूमि पूजन की तैयारियां तेज हैं। वही इसमें चार चांद लगाने के लिए सीएम योगी ने अयोध्या में 3 से 5 अगस्त तक दिवाली मनाने का आदेश दिया है। साथ ही ट्रस्ट के लोगों ने 5 अगस्त को अपने घरों में लोगों से दिए जलाने का अनुरोध किया है। हालांकि सरयू तट पर यह शुरू भी हो गया है। सूचना है की भूमि पूजन कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर किया जाएगा। इस भव्य कार्यक्रम को देखते हुए अयोध्या में सुरक्षा इंतजाम कड़े किए गए हैं। इस दौरान फुलप्रूफ सुरक्षा व्यवस्था होगी।

Leave a Reply