इसी साल फरवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत का दौरा किया था। यह दौरा न सिर्फ दोनों देशों के बीच कूटनीतिक लिहाज से काफी महत्वपूर्ण था। बल्कि डोनाल्ड ट्रंप को उम्मीद है कि उनके इस दौरे से करीब 30 लाख प्रवासी भारतीयों वोटरों का एक बड़ा समूह उनके पक्ष में वोट करेगा।

लेकिन उनके उम्मीदों को उस दिन गहरा झटका लगा जब डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से कमला हैरिस का आगामी चुनाव के उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया। ट्रंप के विरोधी उम्मीदवार जो बिडेन ने कमला हैरिस के नाम का ऐलान एक पत्र के जरिए। कमला हैरिस के नाम ऐलान के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी।

कमला हैरिस का भारत कनेक्शन

नाना -नानी के साथ कमला हैरिस और उनकी छोटी बहन माया ( तस्वीर LA Times)

कमला हैरिस का जन्म अमेरिका में हुआ है। लेकिन उनकी माँ
श्यामला गोपालन जो कि पेशे से एक ब्रेस्ट कैंसर सर्जन हैं वो मूलतः चेन्नई की रहने वाली हैं। वर्ष 1960 में कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन अमेरिका चली गई जहाँ उन्होंने इकनॉमिक्स के प्रोफेसर डोनाल्ड हैरिस से शादी की। पर यह शादी ज्यादा वर्षों तक नहीं चली। कमला के माता पिता का तलाक हो गया। लेकिन कमला और उनकी छोटी बहन की परवरिश उनकी माँ ने ही किया।

एक मज़बूत उम्मीदवार

जो बिडेन और कमला हैरिस ( तस्वीर: रायटर्स)

कमला हैरिस के विषय में कहा जाता है कि वो गरीब और वंचित तबके के लिए जो अन्याय सह रहा है उसके साथ हमेशा खड़ी रहती हैं। जिसके कारण अमेरिका में उनकी काफी लोकप्रियता है। इसके अलावा कमला हैरिस एक अश्वेत महिला भी हैं। पिछले दिनों अमेरिका में हुए अश्वेतों के द्वारा किए गए आंदोलन का लाभ भी कमला हैरिस और जो बिडेन को मिल सकता है। 55 वर्षीय हैरिस पिछले 20 सालों में पहली अश्वेत महिला हैं जो सीनेट के लिए चुनी गई। वह 2016 में कैलिफोर्निया से सीनेट सदस्य चुनी गई थी। तब उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को करारी शिकस्त दी थी।

Leave a Reply