घटनास्थल पर मौजूद पुलिस

प्रभुनाथ शुक्ला

भदोही, 7 जुलाई। कानपुर में विकास दुबे और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में आठ पुलिसवालों की शहादत के बाद योगी सरकार और पुलिस एक्शन में आ गई है। भदोही जिले की सुरियावां पुलिस ने सोमवार की रात मुठभेड़ में 50 हजार के इनामियां को ढेर कर दिया। जबकि उसका साथी भागने में सफल रहा। मारे गए बदमाश के खिलाफ़ पूर्वांचल के थानों में 14 मुक़दमें दर्ज थे। इस घटाना में स्वांत टीम के दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। भदोही पुलिस अधीक्षक ने घटना स्थल का निरीक्षक भी किया।

भदोही पुलिस अधीक्षक आरबी सिंह के अनुसार सोमवार की रात तक़रीबन 1:30 बजे जब थानाध्यक्ष सुरियावां व स्वाट प्रभारी चकिया तिराहे पर चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान दो अज्ञात व्यक्ति मोटरसाइकिल से आते दिखाई दिए। पुलिस उन्हें रोकने का प्रयास किया तो बदमाश पुलिस पार्टी पर ताबड़तोड़ गोलियां चलानी शुरू कर दिया। जवाबी हमले कांस्टेबल सचिन के बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लग गई जबकि स्वाट प्रभारी अजय सिंह के पैर में गोली लगी।

पुलिस द्वारा की गई जवाबी कार्यवाही में 50 हजार का इनामियां दीपक उर्फ रवि मारा गया जबकि उसका साथी फायरिंग करता हुआ भाग निकला। दीपक उर्फ रवि सुरियावां निवासी छोटेलाल का बेटा था। उसने पूर्वांचल के कई जिलों की पुलिस के नाक में दम कर दिया था। वह वाराणसी जेल से भी फरार हुआ था। उस पर 50 हजार का ईनाम था।

भदोही पुलिस ने इस पर 25000 रुपए का इनाम रखा था जबकि अंबेडकरनगर की पुलिस नेे 15000 और वाराणसी ने 10000 रूपए का इनाम घोषित किया था। लेकिन मुठभेड़ में वह मार गिराया गया। पुलिस अधीक्षक के अनुसार मुठभेड़ में पुलिस ने ईनामियां दीपक को मार गिराया जबकि उसका साथी भागने में सफल रहा। पुलिस मुठभेड़ में घायल दीपक को सुरियावां सामुदायिक अस्पताल लाया गया जहाँ डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जबकि स्वाट प्रभारी अजय सिंह को इलाज हेतु जिला अस्पताल रेफर किया गया है। पुलिस फरार बदमाश की तलाश में जुटी है। मुठभेड़ की घटाना से सम्बन्धित
मुकदमा दर्ज कर पुलिस कार्रवाई में जुट गई है।

Leave a Reply