कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए कनाडा के सभी एयरपोर्ट पर यात्रियों के शारीरिक तामपान को मापा जाएगा। जो यात्री किसी भी तरह के बुखार से पीड़ित होंगे उन्हें यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी । कनाडा के प्रधानमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि हम ऐसा कदम इसलिए उठा रहे हैं कि ताकि किसी को भी खतरे का सामना ना करना पड़े और साथ ही जो भी व्यक्ति बुखार से पीड़ित हैं वे अपने घर पर ही रहें।

स्क्रीनिंग की इस प्रक्रिया को कई चरणों में किया जाएगा। अगर कोई व्यक्ति जून के अंत तक कनाडा पहुंचता है तो उन सभी के शारीरिक तापमान को मापा जाएगा । साथ ही जुलाई के अंत तक देश छोड़ने वाले और घरेलू नागरिकों के भी शारीरिक तापमान की जांच होगी । हालांकि यह प्रक्रिया कनाडा के चारों बड़े एयरपोर्ट पर लागू की जाएगी। स्क्रीनिंग को लेकर कनाडा के परिवहन मंत्री ने कहा है कि अगर किसी भी व्यक्ति को जांच में बुखार पाया जाता है तो उन्हें 14 दिन बाद ही यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि किसी व्यक्ति का शारीरिक तापमान दो बार 10 मिनट के अंतराल पर मापा जाएगा , अगर उसके बाद भी बुखार का पता चलता है तो उन्हें यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स को उनके सूत्र ने यह बताया कि अमेरिका और कनाडा कोरोना वायरस से बचाव के लिए गैर जरूरी यात्राओं पर जुलाई तक के लिए प्रतिबंध लगाएंगे। कनाडा ने एयरपोर्ट पर काम करने वाले सभी लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। साथ ही विमान में मौजूद कर्मी भी मास्क पहनेंगे। हालांकि कनाडा में पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस के केस की संख्या में कुछ कमी दर्ज की जा रही है साथ ही कई प्रांतों ने इसलिए लॉकडाउन में थोड़ा थोड़ा ढील देना शुरू कर दिया है। इसके अलावा व्यापार और उद्योगों को भी खोलने की भी अनुमति दी गई है।

कनाडा में अभी तक कोरोना वायरस के कुल 99,420 मामले दर्ज किए गए हैं और साथ ही करीब 8,115 मौतें इस वायरस के कारण से हुई है। इनमें से करीब 80% मौतें ओटावा के नर्सिंग होम में हुई है । इस स्थिति से निपटने के लिए सेना को ओटावा भेजा गया है । प्रधानमंत्री ट्रुडो ने कहा कि ओटावा और क्यूबेक दोनों के नर्सिंग होम में 26 जून तक सैन्य मदद उपलब्ध रहेगी। उसके बाद वहां रेड क्रॉस अपनी सुविधाएं देगा।

नोट : यह खबर समाचार एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से लिखी गई है

Leave a Reply