पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( तस्वीर: The Print)

फ्रांस की मशहूर कार्टून पत्रिका ने एक बार फिर से पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून छापा है। यह वही कार्टून हैं जिसके बाद शार्ली ऐब्दो के दफ्तर पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें 12 लोगों की जान गई थी। जिसमें पत्रिका के संपादक सहित कई कार्टूनिस्ट भी शामिल थे। इस घटना के बाद एक अन्य हमले में भी 5 लोगों की जान गई थी। अब जब आतंकियों की मदद करने वाले लोगों पर न्यायालय में भी केस चलने जा रहा है तब एक बार फिर पत्रिका ने पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून छापा है। इस बार के अंक में कुल 12 कार्टून छापा गए हैं। हालांकि ये सभी कार्टून इससे पहले डेनमार्क की एक पत्रिका में छापे जा चुके थे।

शार्ली ऐब्दो में पैगम्बर मोहम्मद के कार्टून पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कड़ी आपत्ति जताई है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट करते हुए कहा कि पत्रिका ने अरबों मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है और इसे प्रेस की स्वतंत्रता से जोड़कर देखना गलत होगा। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘पाकिस्तान ने फ्रांसीसी पत्रिका शार्ली ऐब्दो द्वारा पवित्र पैगंबर मोहम्मद (PBUH) के गहन अपमानजनक कार्टून को फिर से प्रकाशित करने के फैसले की कड़े शब्दों में निंदा करता है। अरबों मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए ऐसा जानबूझकर किया गया कार्य प्रेस की स्वतंत्रता या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में एक अभ्यास के रूप में उचित नहीं ठहराया जा सकता है। इस तरह की कार्रवाई शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के साथ-साथ सामाजिक और अंतर-विश्वास सद्भाव के लिए वैश्विक आकांक्षाओं को कम करती है।’

शार्ली ऐब्दो के दफ्तर पर आतंकी हमले के पीछे ISIS की विचारधारा कही जा रही है। दुनियाभर में इस हमले की कड़ी निंदा किया गया था। अब जब कोर्ट में इस मामले की सुनवाई शुरू हो रही है तब यह उम्मीद जताई जा रही है कि आतंकियों की मदद करने वाले लोगों को सजा मिलेगी।

Leave a Reply