स्रोत: गूगल

प्रशांत मिश्रा

सुशांत सिंह राजपूत का केस अभी तक चल रहा है उनके निधन केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की रिया चक्रवर्ती से पूछताछ में वित्तीय हेराफेरी के कई अहम खुलासे भी हो रहे हैं। इसकी शुरुआत सुशांत के बैंक खाते से तकरीबन 15 करोड़ रुपए की हेरा फेरी से शुरू हुई थी जो अब उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट्स तक जा पहुंची है। सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड का मामला एक मिस्ट्री के साथ-साथ राजनीति का अहम मुद्दा भी बन चुका है। अब इस केस में कुछ नई बाते भी सामने आ रही हैं। जिस कारण ये केस एक नया मोड़ लेता नजर आ रहा है।

गूगल

अब शिवसेना के सांसद संजय राउत अपने बेबाक अंदाज के लिए काफी जाने जाते हैं। सुशांत मामले में ज्यादा ना बोलने वाले संजय राउत ने अब कुछ ऐसा बयान दे दिया है कि सुशांत केस में सारे समीकरण बदल गए हैं। संजय राउत का एक बयान इस समय काफी चर्चा में है। उन्होंने अपने मुखपत्र सामना के जरिए ये दावा कर दिया है कि सुशांत के पिता ने दूसरी शादी की थी जिस कारण सुशांत के अपने पिता से ज्यादा अच्छे रिश्ते नहीं थे। संजय राउत लिखते हैं- सुशांत का परिवार मतलब पिता पटना में रहते हैं। पिता से उसके संबंध अच्छे नहीं थे।

पिता ने दूसरा विवाह किया था जो सुशांत को स्वीकार नहीं था। इसलिए पिता से उसका भावनात्मक संबंध कुछ खास अच्छा नहीं बचा था। सांसद यहां तक कह रहे हैं कि सुशांत के पिता को किसी ने गुमराह किया है इसलिए उन्होंने बिहार में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ FIR दर्ज करवाई है। संजय के मुताबिक के के सिंह को बरगलाकर बिहार में FIR दर्ज करवाई गई है। अब संजय राउत का ये बयान अपने आप में काफी अहम माना जा रहा है। अब कहने को राउत ने अपने इस बयान के सबूत में ज्यादा कुछ नहीं बोला है, लेकिन उनका ये कहना कि सुशांत के अपने पिता से अच्छे संबध नहीं थे, कई तरह के सवाल पैदा करता है। अब इस बात पर भी कई सवाल सामने आ रहे है

सोशल मीडिया

आपको बतादें संजय राउत ने मांग कर दी है कि इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि आखिर क्यों सुशांत और अंकिता अलग हुए थे। ऐसा क्या हुआ था कि अंकिता ने सुशांत को छोड़ दिया था। ये सवाल संजय राउत ने अपने लेख में कई बार उठाया है। सुशांत केस में इस समय सीबीआई जांच भी हो रही है, ईडी भी जांच पड़ताल कर रही है और नेता भी बयानबाजी लगातार कर रहे हैं। ऐसे में इस केस में जल्दी कोई परिणाम देखने को मिलेगा, ऐसा मुश्किल लग रहा है और अब केस काफी गंभीर होता जा रहा है।

Leave a Reply