ट्विटर

आज संसद के मॉनसून सत्र का पांचवां दिन है। मॉनसून सत्र के चौथे दिन लोकसभा में किसानों से जुड़े दो महत्वपूर्ण विधेयक पारित हो गए। ये दोनों विधेयक कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक, मूल्य आश्वासन और कृषि सेवाओं पर किसान (संरक्षण एवं सशक्तीकरण विधेयक) 2020 हैं।


राज्यसभा ने होम्योपैथी केंद्रीय परिषद संशोधन बिल 2020 को पारित कर दिया।

होम्योपैथी केंद्रीय परिषद के गठन में देरी क्यों हुई

राज्यसभा में शुक्रवार को कांग्रेस सहित कई विपक्षी दलों ने सरकार से सवाल किया कि होमियोपैथी (होम्योपैथी) केंद्रीय परिषद के गठन में तीन साल क्यों लग गए। कांग्रेस सदस्य रिपुन बोरा ने कहा कि होमियोपैथी केंद्रीय परिषद पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उसके स्थान पर संचालक मंडल की स्थापना की गयी थी। शुरू में कहा गया था कि एक साल के अंदर परिषद का गठन कर लिया जाएगा। बाद में वह समय बढ़ाकर दो साल कर दिया। अब इसके लिए तीन साल की बात की जा रही है। उन्होंने सवाल किया कि दो साल बीत जाने के बाद भी इस परिषद का गठन नहीं हो सका।

Leave a Reply