स्रोत - अमर उजाला

बिजली गिरने से गुरुवार को तीन राज्यों में कुल 110लोगों की मौत हो गई। इनमें बिहार, यूपी और झारखंड शामिल हैं। सबसे ज्यादा मौतें बिहार में हुईं। यहां के 23 जिलों में 83 लोगों की मौत हुई। इनमें गोपालगंज में 14, मधुबनी और नवादा में 8-8 तथा सीवान व भागलपुर में 6-6 लोगों की मौत शामिल हैं।

दरभंगा, पूर्वी चंपारण और बांका में 5-5 व्यक्ति की मौत हुई। खगड़िया और औरंगाबाद में 3-3 तथा पश्चिमी चंपारण, किशनगंज, जहानाबाद, जमुई, पूर्णिया, सुपौल, कैमूर व बक्सर में 2-2 लोगों की मौत हुई है। समस्तीपुर, शिवहर, सारण, सीतामढ़ी और मधेपुरा में एक-एक व्यक्ति की जान गई।आपदा प्रबंधन विभाग ने इसकी पुष्टि की है।
वही उत्तर प्रदेश में गुरुवार को कई जिलों में आकाशीय बिजली गिरने और आंधी तूफान से भारी तबाही हुई है। बिजली गिरने से प्रदेश में कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई है। जबकि कई लोग इससे झुलस गए है।

प्रदेश के कई जिलों में आंधी-तूफान और बिजली गिरने से कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई। जबकि 24 लोग घायल भी हुए हैं। इसके अलावा प्राकृतिक आपदा में 46 पशुओं की भी मौत हो गई है।

देवरिया में आकाशीय बिजली गिरने से उसकी चपेट में आने से 9 लोगों की मौत हो गई। जबकि आधा दर्जन लोग झुलस गए।
इसी तरह बाराबंकी में आकाशीय बिजली गिरने से 2 की मौत हो गई जबकि 2 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घटना रामनगर और मोहम्मद पुर खाला क्षेत्र जयसिंह पुरवा की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया ट्वीट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “बिहार और उत्तर प्रदेश में भारी बारिश और बिजली से कई लोगों की मौत की दुखद खबर सुनी। राज्य सरकारें राहत कार्य में जुटी हैं। मैं उन परिवारों के प्रति संवेदना जताता हूं, जिन्होंने इस आपदा में अपने प्रियजनों को खो दिया।”

नीतीश कुमार ने 4-4 लाख मुहावरे का ऐलान किया
वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनको 4-4 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। सीएम ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें।

योगी आदित्यनाथ राहत राशि देगी
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को राहत राशि तत्काल देने का निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply